HIGHLIGHTS


डब्‍लूएचओ ने कहा कभी खत्‍म नहीं हो सकता है कोरोना वायरस

Root News of India 2020-07-11 08:11:02    INTERNATIONAL 7772
डब्‍लूएचओ ने कहा कभी खत्‍म नहीं हो सकता है कोरोना वायरस
जिनेवा, 11 जुलाई 2020, (आरएनआई)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते संक्रमण के बीच इसके पूरी तरह से खत्‍म होने के दावे को लेकर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठनका कहना है कि कोरोना वायरस को खत्‍म करना नामुमकिन है।

डब्‍लूएचओ के इमरजेंसी प्रोग्राम के मुखिया डॉक्‍टर माइक रेयान ने कहा, वर्तमान स्थिति में तो ऐसा नहीं लगता कि यह वायरस कभी खत्‍म हो सकेगा। हम इस वायरस को खत्‍म कर पाएंगे, ऐसा मुश्किल है। उन्‍होंने आगे कहा कि इनफेक्‍शन के क्‍लस्‍टर्स को कम करके इस वायरस के सबसे बुरे प्रभाव से दुनिया को बचाया जा सकता है। उन्होंने आगे बताया वायरस की सेकेंड पीक आने वाली है और लॉकडाउन अपनाकर वायरस के दुष्‍प्रभाव से बचा जा सकेगा।






Related News

International

यूनिसेफ की रिपोर्ट में बड़ा खुलासा, दुनिया के 80 करोड़ बच्चों के खून में घुल रहा सीसे का जहर
Root News of India 2020-08-01 07:29:44
नई दिल्ली, 1 अगस्त 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की एक रिपोर्ट में कहा गया हे कि दुनिया के लगभग तीन चौथाई बच्चे सीसा (Lead) धातु के जहर के साथ जीने को मजबूर हैं। इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के सीसा धातु से प्रभावित होने की वजह एसिड बैटरियों के निस्‍तारण को लेकर बरती जाने वाली लापरवाही है। इसकी वजह से यूनिसेफ ने इस तरह की लापरवाही के प्रति आगाह करते हुए इसको तत्‍काल बंद करने की अपील भी की है।
ब्रिक्स देशों ने कोविड-19 के असर से उबरने के लिए पर्यावरण सुधार, पुन:चक्रण अर्थव्यवस्था पर जोर दिया
Root News of India 2020-07-31 15:36:16
नई दिल्ली, 31 जुलाई 2020, (आरएनआई)। ब्रिक्स देशों ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने सतत विकास और सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) के लिए 2030 के एजेंडा की आकांक्षाओं को हासिल करने में एक गंभीर चुनौती पेश की है। साथ ही उन्होंने पर्यावरण में सुधार करने तथा राष्ट्रीय योजनाओं में संसाधनों के अधिकतम इस्तेमाल की पुन: चक्रण अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने का आह्वान किया।
पीएम मोदी ने किया मॉरीशस के नए सुप्रीम कोर्ट भवन का उद्घाटन...
Root News of India 2020-07-30 12:04:59
नई दिल्‍ली, 30 जुलाई 2020, (आरएनआई)। पीएम नरेंद्र मोदी और मॉरीशस के पीएम प्रविंद जगन्नाथ ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मॉरीशस की नई सुप्रीम कोर्ट बिल्डिंग का उद्घाटन किया. मॉरीशस के शीर्ष कोर्ट के भवन का निर्माण भारत के सहयोग से हुआ है.इस दौरान मॉरीशस के पीएम ने भारतीय प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा “मैं एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी को हृदय से धन्यवाद देता हूं कि मॉरीशस उनके दिल के बहुत करीब है.”
भारत की प्राचीन परंपरा ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ का सटीक उदाहरण है आईटीईआर टोकामैक : प्रधानमंत्री
Root News of India 2020-07-30 07:03:35
नई दिल्‍ली, 30 जुलाई 2020, (आरएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सूर्य के ऊर्जा स्रोत की नकल करने के लक्ष्य से शुरू की गई बहुराष्ट्रीय परियोजना ‘इंटरनेशनल थर्मोन्यूक्लियर एक्सपेरीमेंटल रिएक्टर (आईटीईआर)’ प्राचीन भारतीय सिद्धांत ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ का सटीक उदाहरण है। दुनिया के सबसे बड़े नाभिकीय संलयन उपकरण आईटीईआर को एसेम्बल करने का काम मंगलवार को फ्रांस के सेंट-पॉल-लेज-दुरांस में शुरू हुआ और सभी ने मिलकर इसपर खुशियां मनायी। आईटीईआर सदस्य देशों के सभी राष्ट्राध्यक्ष/शासनाध्यक्ष या तो मौके पर उपस्थित थे या फिर डिजिटल माध्यम से उसमें भाग लिया, कुछ ने अपने संदेश भी इस समारोह में भेजे थे। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने इस डिजिटल कार्यक्रम की मेजबानी की। मोदी का संदेश फ्रांस में भारत के राजदूत जावेद अशरफ ने पढ़ा। विदेश मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, ‘‘वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की वैश्विक भागीदारी को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने आईटीईआर को प्राचीन भारतीय परंपरा वसुधैव कुटुम्बकम का सटीक उदाहरण बताया.... पूरी दुनिया मानव जाति की बेहतरी के लिए साथ मिलकर काम कर रही है।’’ आईटीईआर संगठन (आईओ) परिसर के निर्माण और उसके संचालन के लिए जिम्मेदार केन्द्रीय टीम है। वहीं आईटीईआर के साझेदार अपने-अपने देशों में अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए स्थानीय एजेंसियों का गठन करेंगे। आईटीईआर-भारत हमारे देश की घरेलू एजेंसी है। आईटीईआर में साझेदार हैं.... यूरोपीय संघ, चीन, भारत, जापान, दक्षिण कोरिया, रूस और अमेरिका। मेजबान होने के नाते यूरोपीय संघ इसमें 45 प्रतिशत का योगदान देता है जबकि अन्य छह देश नौ-नौ प्रतिशत का योगदान करेंगे। ज्यादातर योगदान आईटीईआर के लिए खरीदे गए उपकरणों के रूप में होगा।
कोरोना स्वास्थ्य के मामले में सबसे विकट आपात स्थिति, सख्ती से ही होगा बचाव- डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-07-29 07:01:14
जिनेवा, 29 जुलाई 2020, (आरएनआई)। डब्ल्यूएचओ ने कोरोना महामारी को स्वास्थ्य के मामले में अब तक की सबसे विकट आपात स्थिति बताया है। संगठन के महानिदेशक डॉ. टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस ने कहा कि स्वास्थ्य को लेकर खुद ही सख्ती बरतनी होगी। मास्क पहनना होगा और भीड़-भाड़ में जाने से बचना होगा।
उत्तर कोरिया: जंग खत्म होने की सालगिरह का जश्न, किम जोंग उन ने जनरलों को तोहफे में दीं पिस्तौलें
Root News of India 2020-07-29 07:00:54
प्‍योंगयांग, 29 जुलाई 2020, (आरएनआई)। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने एक बार फिर दुनिया को चेताया है. किम ने कोरिया वॉर खत्म होने की सालगिरह के मौके पर कहा कि अब कोई और युद्ध नहीं होगा, क्योंकि देश परमाणु हथियार संपन्न है. 67 साल पहले हुए इस युद्ध के ‘विजय दिवस’ के मौके पर किम ने सशस्त्र बलों के प्रमुख कमांडिंग अधिकारियों को पिस्तौल देकर सम्मानित किया. 27 जुलाई, 1953 को दक्षिण और उत्तर कोरिया में जंग बिना शांति समझौते के संघर्षविराम के साथ खत्म हो गई थी. यह लड़ाई तब शुरू हुई जब उत्तर कोरिया ने अमेरिका समर्थक माने जाने वाले दक्षिण कोरिया पर हमला कर दिया था.
किम जोंग उन ने कहा परमाणु हथियार राष्‍ट्रीय सुरक्षा की स्‍थायी गारंटी हैं
Root News of India 2020-07-29 07:00:38
प्‍योंगयांग, 29 जुलाई 2020, (आरएनआई)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संकट का कई देश जहाँ सामना कर रहे है, वहीं उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने एक बार फिर परमाणु हथियारों की ओर अपनी प्रतिबद्धता जताते हुए कहा कि परमाणु प्रतिरोध राष्‍ट्रीय सुरक्षा की स्‍थायी गारंटी होंगे।
मंगल की तरफ कदम: चीन का रोवर मिशन टू मार्स लॉन्च, 6 पहियों वाला रोबोट तिआनवेन 1 रॉकेट से मंगल ग्रह की ओर रवाना किया
Root News of India 2020-07-23 12:16:35
बीजिंग, 23 जुलाई 2020, (आरएनआई)। चीन ने मंगल ग्रह के लिए अपने पहले मिशन तिआनवेन1 को सफलतापूर्वक लॉन्‍च कर दिया है। चीन का सबसे हैवी रॉकेट लॉन्‍ग मार्च-5 Y4 इस अंतरिक्ष यान को लेकर रवाना हुआ। चीनी मंगल यान तिआनवेन 1 को दक्षिण चीन के हेनान प्रांत के वेनचांग स्‍पेस लॉन्‍च सेंटर से रवाना किया गया। चीन का दावा है कि इस यान से अनंत अंतरिक्ष में खोज के नए युग की शुरुआत होगी।
कोविड-19 महामारी के बीच चीन के प्रथम मंगल अभियान की तैयारी जारी
Root News of India 2020-07-19 07:48:56
बीजिंग, 19 जुलाई 2020, (आरएनआई)। चीन ने अपने प्रथम मंगल अभियान के तहत एक ‘रोवर’ भेजने के लिए कोविड-19 महामारी के बीच अपनी तैयारी जारी रखी है और इसके लिए ‘लॉंग मार्च-5 रॉकेट’ को प्रक्षेपण स्थल पर ले जाया गया है। लॉंग मार्च-5 रॉकेट चीन का सर्वाधिक भार वाहक प्रक्षेपण यान है और इसका तीन बार प्रयोग किया जा चुका है, लेकिन इसपर कभी पैलोड नहीं था। चीन का प्रथम मंगल अभियान बताए जा रहे ‘तियानवेन-1’ का उद्देश्य वैज्ञानिक आंकड़े जुटाने के लिए लाल ग्रह पर एक रोवर उतारना है। रॉकेट जुलाई या अगस्त के अंत में हैनान प्रांत के दक्षिणी द्वीप में स्थित वेंचांग अंतरिक्ष प्रक्षेपण केंद्र से प्रक्षेपित किया जाने वाला है। चीन के इस अभियान को उसके अंतरिक्ष कार्यक्रम में सर्वाधिक महत्वाकांक्षी माना जा रहा है। मंगल ग्रह के लिए चीन ने अंतिम प्रयास रूस के सहयोग से किया था, जो 2011 में नाकाम रहा था।
डब्‍लूएचओ ने कहा कभी खत्‍म नहीं हो सकता है कोरोना वायरस
Root News of India 2020-07-11 08:11:02
जिनेवा, 11 जुलाई 2020, (आरएनआई)। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते संक्रमण के बीच इसके पूरी तरह से खत्‍म होने के दावे को लेकर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठनका कहना है कि कोरोना वायरस को खत्‍म करना नामुमकिन है।
डब्ल्यूएचओ के दिशा-निर्देश, वेंटिलेशन रहित अस्पतालों में कोरोना फैलने की आशंका अधिक
Root News of India 2020-07-11 08:10:53
जिनेवा, 11 जुलाई 2020, (आरएनआई)। कई देशों के वैज्ञानिकों द्वारा हवा से कोरोना फैलने के खुलासे पर चौतरफा घिरे डब्ल्यूएचओ ने इसे स्वीकारने के साथ ही बचाव के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। डब्ल्यूएचओ ने बृहस्पतिवार को कहा, इलाज के दौरान उन अस्पतालों में वायरस फैलने की आशंका अधिक है, जिन अस्पतालों में वेंटिलेशन यानी हवा की आवाजाही की व्यवस्था नहीं है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, इलाज के दौरान बहुत छोटे-छोटे ड्रॉपलेट्स एरोसोल्स के रूप में हवा में मौजूद रह सकते हैं। खासतौर पर अस्पताल परिसर के ऐसे स्थानों में, जहां हवा आने-जाने की उचित व्यवस्था नहीं है। ऐसे स्थानों पर वायरस घंटों रह सकता है। यहां से गुजरने वाले लोगों के इसकी चपेट में आने का खतरा अधिक है।
महामारी चरम पर नहीं, अभी सबसे बुरा दौर आना बाकी: डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-07-08 12:05:00
जिनेवा, 8 जुलाई 2020, (आरएनआई)। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है कि दुनिया भर में कोविड-19 संक्रमण का सबसे बुरा दौर आना बाकी है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डॉ. तेद्रोस गेब्रियेसस ने कहा, “संक्रमण का प्रकोप तेज हो रहा है और हम स्पष्ट रूप से महामारी के चरम पर नहीं पहुंचे हैं।
हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस: डब्ल्यूएचओ
Root News of India 2020-07-08 10:41:26
जिनेवा, 8 जुलाई 2020, (आरएनआई)। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (COVID-19) काफी तेजी से फैल रहा है। कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर अब तक कई सिमटम सामने आ चुके हैं। साथ ही कई तरह के दावे भी किए जा चुके हैं। इसी बीच कई वैज्ञानिकों ने दावा किया कि हवा के जरिए भी कोरोना वायरस (COVID-19) फैल रहा है। इस पर अब वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। WHO का कहना है कि कुछ मामलों को देखते हुए अब इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि कोरोना का संक्रमण हवा के जरिए नहीं फैल रहा है।
आतंकी समूहों को कोरोना से उत्पन्न हालात का लाभ न उठाने दें : एंटोनियो गुटेरेस
Root News of India 2020-07-08 08:43:32
संयुक्त राष्ट्र, 8 जुलाई 2020, (आरएनआई)। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने कहा है कि कोराना वैश्विक महामारी के कारण उत्पन्न हालात से बढ़ी तनातनी का फायदा इस्लामिक स्टेट, अलकायदा  व जैसे आतंकी समूहों को न उठाने दें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के आतंकी संगठनों पर पड़ने वाले प्रभाव का आकलन अभी जल्दबाजी होगा।
पीएम मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से की फोन पर बात
Root News of India 2020-07-02 16:20:44
नई दिल्ली/मॉस्को, 2 जुलाई 2020, (आरएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से फोन पर बात की। इस दौरान उन्होंने पुतिन को द्वितीय विश्व युद्ध में जीत के 75 साल पूरे होने के जश्न में कार्यक्रमों के सफल आयोजन पर बधाई दी। प्रधानमंत्री ने पुतिन को रूस में संविधान संशोधन के लिए सफल मतदान होने पर भी बधाई दी। 
रूस: संविधान संशोधन को मिली मंजूरी, 2036 तक राष्ट्रपति पद पर बने रहेंगे व्लादिमीर पुतिन
Root News of India 2020-07-02 15:00:09
मॉस्को, 2 जुलाई 2020, (आरएनआई)। रूस में संविधान संशोधन के लिए कराया गया जनमत संग्रह राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए बड़ी खुशखबरी लेकर आया है। दरअसल, जनता ने संविधान संशोधन के लिए कराए गए जनमत संग्रह में पुतिन की दावेदारी का समर्थन किया है। इस तरह व्लादिमीर पुतिन अब 2036 तक सत्ता में काबिज रह सकेंगे। 
इंटरनेट की कमी दुनिया में आय की असमानता को बढ़ाएगी : आईएमएफ
Root News of India 2020-07-01 08:01:01
वाशिंगटन, 1 जुलाई 2020, (आरएनआई)। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि इंटरनेट की सार्वभौमिक और सस्ती पहुंच की कमी दुनिया में आय की असमानता को बढ़ा सकती है। इसके लिए उन्होंने डिजिटल अनुकूल कारोबार और नियामक वातावरण को बढ़ावा देने का आग्रह किया है। उन्होंने दुनिया में इंटरनेट की पहुंच को प्रोत्साहन देना जरूरी बताया।
कोरोना वायरस को लेकर डब्ल्यूएचओ की चेतावनी, अभी सबसे खराब स्थिति आनी बाकी
Root News of India 2020-07-01 08:00:52
जिनेवा, 1 जुलाई 2020, (आरएनआई)। कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि इस महामारी की सबसे खराब स्थिति अभी आनी बाकी है। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि महामारी की रफ्तार बढ़ रही है, इसका प्रसार बहुत ज्यादा तेजी से हो रहा है। 
हॉन्ग कॉन्ग के विवादित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को चीन ने दी मंजूरी
Root News of India 2020-06-30 07:49:39
बीजिंग, 30 जून 2020, (आरएनआई)। चीन के शीर्ष विधायी निकाय नेशनल पीपुल्स कांग्रेस स्टैंडिंग कमेटी ने मंगलवार को सर्वसम्मति से हॉन्ग कॉन्ग के लिए एक व्यापक राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पारित किया है। इस कानून के तहत राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने, विदेशी ताकतों के साथ अलगाव, तोड़फोड़, आतंकवाद के दोषी व्यक्ति को अधिकतम उम्रकैद की सजा सुनाई जा सकती है। नेशनल पीपुल्स कांग्रेस स्टैंडिंग कमेटी के 162 सदस्यों ने कानून को पेश किए जाने के 15 मिनट के अंदर सर्वसम्मति से इसे मंजूरी दे दी। हॉन्ग कॉन्ग में यह कानून 1 जुलाई से प्रभावी हो जाएगा।
मार्शा पी. जॉनसन को गूगल ने किया सम्मानित, बनाया डूडल
Root News of India 2020-06-30 07:49:36
वाशिंगटन, 30 जून 2020, (आरएनआई)। गूगल ने मंगलवार को अमेरिका के महान क्रांतिकारी मार्शा पी जॉनसन का डूडल बनाकर उन्हें सम्मानित किया। ऐसे में सभी के मन में यह सवाल होगा कि जॉनसन कौन हैं और उन्होंने ऐसा क्या काम किया है जो गूगल ने सम्मान के तौर पर उनका डूडल बनाया है। दरअसल, उन्होंने समलैंगिकों के अधिकारों के लिए लड़ते-लड़ते दुनिया छोड़ दी थी। उनकी वजह से ही आगे चलकर समलैंगिकों को आम नागरिकों की तरह जीने का अधिकार मिला।

Top Stories

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?