HIGHLIGHTS
यूएन के खास अवॉर्ड से सम्‍मानित होने वाली पहली इंडियन आर्मी ऑफिसर बनीं मेजर सुमन गवानी

यूएन के खास अवॉर्ड से सम्‍मानित होने वाली पहली इंडियन आर्मी ऑफिसर बनीं मेजर सुमन गवानी

नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। इंडियन आर्मी में मेजर सुमन गवानी को संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ (यूएन) की तरफ से प्रतिष्ठित पुरस्‍कार से सम्मानित किया गया है। यूएन के महानिदेशक एंटोनिया गुटारेशे की तरफ से उन्‍हें यह पुरस्‍कार दिया गया है। मेजर सुमन को इंटरनेशनल डे ऑफ यूनाइटेड नेशंस पीसकीपर्स के मौके पर यह पुरस्‍कार दिया गया है। सेना की तरफ से एक आधिकारिक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी गई है।...

छत्तीसगढ़: सुरक्षाकर्मी ने अपने साथियों पर चलाई गोलियां

छत्तीसगढ़: सुरक्षाकर्मी ने अपने साथियों पर चलाई गोलियां

रायपुर, 30 मई 2020, (आरएनआई)। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में एक सुरक्षाकर्मी ने कथित रूप से अपने तीन साथियों पर गोलियां चलाईं जिसमें दो सुरक्षा कर्मियों की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया।...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर देश की जनता को लिखा खत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर देश की जनता को लिखा खत

नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। आज से ठीक एक साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत शपथ ग्रहण करने के साथ से की और पहली वर्षगांठ पूरा होने पर उन्होंने देश की जनता को खत लिखा. कोरोनावायरस के संक्रमण के चलते भले ही पीएम मोदी देशवासियों के सामने आकर लोगों संवाद नहीं कर सके, लेकिन उन्होंने अपने खत के माध्यम से न सिर्फ पिछले एक साल के भीतर देश में हुए उपलब्धियों को गिनाया बल्कि देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान लोगों द्वारा नियमों का निष्ठा से पालन करने पर वाहवाही भी की. आइए पढ़ते हैं पीएम मोदी द्वारा देश की जनता के लिए लिखी गई पूरी चिट्ठी......

एक जून से काले कोट और टाई में नहीं दिखेंगे टीटीई, रेलवे ने जारी की गाइडलाइंस

एक जून से काले कोट और टाई में नहीं दिखेंगे टीटीई, रेलवे ने जारी की गाइडलाइंस

नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। भारतीय रेल के 167 के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब रेलगाड़ियों में टिकट की जांच करने वाले कर्मचारी अपने पारंपरिक काले कोट एवं टाई नहीं पहनेंगे। एक जून से शुरू होने वाले 100 जोड़ी ट्रेनों में सवार टिकट जांच करने वाले कर्मचारियों के लिये कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर रेलवे ने दिशा निर्देश जारी किये हैं जिसके अनुसार उन्हें मास्क, दस्ताने और साबुन के अलावा आतिशी शीशा दिया जायेगा।...

PMO से लेकर कई केंद्रीय विभागों में नौकरशाही में बड़ा फेरबदल

PMO से लेकर कई केंद्रीय विभागों में नौकरशाही में बड़ा फेरबदल

नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। केंद्र सरकार ने शुक्रवार को वरिष्ठ नौकरशाही के स्तर पर कई अधिकारियों के विभागों में फेरबदल किया. इसमें पीएमओ से लेकर केंद्र सरकार के विभिन्‍न विभागों में नौकरशाहों की जिम्‍मेदारी में बदलाव के साथ नई जिम्‍मेदारी दी गईं हैं....

अर्थव्यवस्था को झटका

अर्थव्यवस्था को झटका

नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर बीते वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में घटकर 3.1 प्रतिशत पर आ गई। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। वृद्धि दर के आंकड़ों पर कोविड-19 संकट का प्रभाव भी पड़ा है।...

दिल्ली-एनसीआर में महसूस किए गए भूकंप के झटके

दिल्ली-एनसीआर में महसूस किए गए भूकंप के झटके

नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। राजधानी में शुक्रवार को फिर एक बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। पिछले करीब डेढ़ माह के दौरान पांचवी बार ऐसे झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.6 मापी गई। हालांकि कहीं से जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है।...

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन

नई दिल्ली, 29 मई 2020, (आरएनआई)। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का आज 74 वर्ष की आयु में निधन हो गया। ...

रेलवे ने बदले कई नियम

रेलवे ने बदले कई नियम

नई दिल्ली, 28 मई 2020, (आरएनआई)। रेल यात्रियों को अब धीरे-धीरे पहले जैसी सुविधाएं मिलने लगेंगी. लॉकडाउन के बीच 12 मई से 15 जोड़ी राजधानी टाइप की स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं. जबकि एक जून से 200 और ट्रेनें (मेल और एक्सप्रेस) चलने वाली हैं. रेलवे ने एक बार फिर लॉकडाउन के बीच अपने नियमों में बदलाव किया है....

वित्त मंत्री ने आधार के जरिए मुफ्त में तत्काल पैन कार्ड की सुविधा शुरू की

वित्त मंत्री ने आधार के जरिए मुफ्त में तत्काल पैन कार्ड की सुविधा शुरू की

नई दिल्ली, 28 मई 2020, (आरएनआई)। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को आधार-आधारित ई-केवाईसी का उपयोग करके पैन कार्ड के तत्काल आवंटन की सुविधा को औपचारिक रूप से लॉन्च कर दिया। यह सुविधा अब उन सभी स्थाई खाता संख्या (पैन) आवेदकों के लिए उपलब्ध है, जिनके पास वैध आधार संख्या है और जिनके पास यूआईडीएआई डेटाबेस में पंजीकृत मोबाइल नंबर है।...

Top Stories

National

  • यूएन के खास अवॉर्ड से सम्‍मानित होने वाली पहली इंडियन आर्मी ऑफिसर बनीं मेजर सुमन गवानी

    यूएन के खास अवॉर्ड से सम्‍मानित होने वाली पहली इंडियन आर्मी ऑफिसर बनीं मेजर सुमन गवानी

    Dr. Samrendra Pathak 2020-05-30 11:25:10

    नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। इंडियन आर्मी में मेजर सुमन गवानी को संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ (यूएन) की तरफ से प्रतिष्ठित पुरस्‍कार से सम्मानित किया गया है। यूएन के महानिदेशक एंटोनिया गुटारेशे की तरफ से उन्‍हें यह पुरस्‍कार दिया गया है। मेजर सुमन को इंटरनेशनल डे ऑफ यूनाइटेड नेशंस पीसकीपर्स के मौके पर यह पुरस्‍कार दिया गया है। सेना की तरफ से एक आधिकारिक बयान जारी कर इसकी जानकारी दी गई है।

International

State

  • गैस सिलेंडर लीक होने से महिला झुलसी

    गैस सिलेंडर लीक होने से महिला झुलसी

    Pranjal Gupta 2020-05-30 17:55:38

    पीलीभीत, 30 मई 2020, (आरएनआई)। यूपी के पीलीभीत जिले में एक महिला गैस पर चाय बनाते समय बुरी तरह झुलस गई। गैस का सिलेंडर लीक होने के चलते यह हादसा हो गया जिसमें महिला बुरी तरह से झुलस गई। आनन-फानन में महिला को सीएचसी में भर्ती कराया गया जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया है। मामला थाना अमरिया क्षेत्र के गांव भूडा़ कैमोर निवासी मो0 राशिद की पत्नी मंतशा अपनी रसोईघर में चाय बना रही थी। अचानक गैस सिलेंडर लीक होने की बजह से आग लग गयी और मंतशा की पूरी तरह से झुलस गई। आनन-फानन में चीख पुकार सुनकर घर बाले इकट्टठा हो गये और 108 एम्बुलेंस को फोन किया जिसके बाद 108 एम्बुलेंस द्वारा झुलसी हुई महिला को अमरिया सीएचसी में भर्ती किया गया। जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार किया लेकिन महिला के ज्यादा झुलस जाने की बजह से सीएचसी के चिकित्सकों ने जिला अस्पताल के लिये रेफर कर दिया। फिलहाल महिला की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है।

Specials

  • वैज्ञानिकों ने धरती के सबसे नजदीक मौजूद ब्लैक होल को खोजा

    वैज्ञानिकों ने धरती के सबसे नजदीक मौजूद ब्लैक होल को खोजा

    Root News of India 2020-05-19 09:34:29

    नई दिल्ली, 19 मई 2020, (आरएनआई)। हाल ही में अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने धरती के सबसे नजदीक मौजूद ब्लैक होल को ढूंढ निकाला है। ये धरती से करीब एक हजार प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है। अंतरिक्ष में ब्लैक होल एक शक्तिशाली गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र वाली जगह है जहां पर भौतिक विज्ञान का कोई भी नियम काम नहीं करता है।

Sports

Business

  • अर्थव्यवस्था को झटका

    अर्थव्यवस्था को झटका

    Dr. Samrendra Pathak 2020-05-30 09:20:08

    नई दिल्ली, 30 मई 2020, (आरएनआई)। देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर बीते वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) में घटकर 3.1 प्रतिशत पर आ गई। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। वृद्धि दर के आंकड़ों पर कोविड-19 संकट का प्रभाव भी पड़ा है।

Entertainment

  • दुनिया में संतुष्टि का अभाव पीड़ादायक

    दुनिया में संतुष्टि का अभाव पीड़ादायक

    Rupesh Kumar 2020-05-25 20:42:13

    पटना, 25 मई 2020, (आरएनआई)। सृष्टि में अमीर कौन है भिखारी कौन है इसको समझना पूरे ब्रम्हाण्ड को समझने जैसा है।आज के वक़्त में ना कोई राष्ट्र , ना कोई नेतृत्व ,ना कोई विश्वव्यापी व्यापारी, ना छोटा व्यापारी, ना समाज, ना परिवार और ना ही इंसान संतुष्ट है।सब को कुछ न कुछ और पाने की चाहत पीड़ा का कारण होता है।जिसको भगवान की दी हुई आशीर्वाद रूप में जीवन से जुड़ी सारी ज़रूरत से संतुष्टि नही है वह इंसान इस दुनिया में किसी सांसारी वस्तु से संतुष्ट नही हो सकता।किसी ने सही ही कहा है कि इस दुनिया में कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता, कहीं ज़मीन तो कहीं आसमान नहीं मिलता है।इस संसार में जो भी इन्सान जन्म लेता है वो अपने साथ कुछ भी नहीं लाता है और जब इस संसार को छोड़कर जाता है तभी वो अपने साथ कुछ भी नहीं लेकर जाता है।परन्तु इंश्वर ने इस तरह का खेल इंसान के जीवन के साथ रचा की जब तक वो जिन्दा रहेगा पूरे जीवन भर भागता ही रहेगा।जिसके कारण वो अपनी पूरी जिंदगी इस संसार में कभी भी संतुष्ट नहीं होता है।इस बात को समझाने के लिए एक छोटी सी कहानी का उदहारण देता हु।किसी दूर राज्य में एक राजा शासन करता था। राजा बड़ा ही परोपकारी स्वभाव का था, प्रजा का तो भला चाहता ही था। इसके साथ ही पड़ोसी राज्यों से भी उसके बड़े अच्छे सम्बन्ध थे। राजा किसी भी इंसान को दुःखी देखता तो उसका ह्रदय द्रवित हो जाता और वो अपनी पूरी श्रद्धा से जनता का भला करने की सोचता।एक दिन राजा का जन्मदिन था। उस दिन राजा सुबह सवेरे उठा तो बड़ा खुश था। राजा अपने सैनिकों के साथ वन में कुछ दूर घूमने निकल पड़ा। आज राजा ने खुद से वादा किया कि मैं आज किसी एक व्यक्ति को खुश और संतुष्ट जरूर करूँगा।यही सोचकर राजा सड़क से गुजर ही रहा था कि उसे एक भिखारी दिखाई दिया। राजा को भिखारी की दशा देखकर बड़ी दया आई। उसने भिखारी को अपने पास बुलाया और उसे एक सोने का सिक्का दिया। भिखारी सिक्का लेके बड़ा खुश हुआ, अभी आगे चला ही था कि वो सिक्का भिखारी के हाथ से छिटक कर नाली में गिर गया। भिखारी ने तुरंत नाली में हाथ डाला और सिक्का ढूंढने लगा।राजा को बड़ी दया आई कि ये बेचारा कितना गरीब है, राजा ने भिखारी को बुलाकर एक सोने का सिक्का और दे दिया। अब तो भिखारी की खुशी का ठिकाना नहीं था। उसने सिक्का लिया और जाकर फिर से नाली में हाथ डाल के खोया सिक्का ढूंढने लगा।राजा को बड़ा आश्चर्य हुआ, उसने फिर भिखारी को बुलाया और उसे एक चांदी का सिक्का और दिया क्यूंकि राजा ने खुद से वादा किया था कि एक इंसान को खुश और संतुष्ट जरूर करेगा। लेकिन ये क्या ? चांदी का सिक्का लेकर भी उस भिखारी ने फिर से नाली में हाथ डाल दिया और खोया सिक्का ढूंढने लगा।राजा को बहुत बुरा लगा उसने फिर भिखारी को बुलाया और उसे एक और सोने का सिक्का दिया। राजा ने कहा – अब तो संतुष्ट हो जाओ। भिखारी बोला महाराज, मैं खुश और संतुष्ट तभी हो सकूँगा जब मुझे वो नाली में गिरा सोने का सिक्का मिल जायेगा।दोस्तों हम भी, आप भी , दुनिया का हर अमीर - ग़रीब भी उस भिखारी की ही तरह हैं और वो राजा हैं भगवान है । अब भगवान हमें कुछ भी देदे हम संतुष्ट हो ही नहीं सकते। ये मेरी या आपकी बात नहीं है बल्कि पूरी दुनिया में मानव जाति कभी संतुष्ट नहीं हुई है।संतुष्टि नही होने के कारण आज समाज परिवार में कई तरह की घटनाएँ घटित होती रहती है।हत्या , लूट सहित हर तरह की आपराधिक घटनाएँ नित्य दिन समाज में देखने सुनने को मिलती रहती है। कोई अपने परिवार से कोई अपने बच्चे से तो कोई अपने जीवनसाथी से संतुष्ट नही है।जो सबके पीड़ा का कारण है।सबको अधिक पैसा चाहिए, पैसा मिले तो अब कार चाहिए, कार मिले तो और महँगी कार चाहिए, दुनिया समाज में जो भी अच्छा दिखे उसको चाहिए। स्वर्ग की अनुभूति और आनंद चाहिए। सारी चीझे हर इंसान के अंदर संतुष्टि के रूप में है पर देखने की कोसिस नही करता है।जो इंसान के जीवन की पूरी यात्रा में यही क्रम चलता रहता है।भगवान ने हमें ये अनमोल शरीर दिया है लेकिन हम जिंदगी भर नाली वाला सोने का सिक्का ही ढूंढते रहते हैं। आप चाहे कितने भी अमीर हो जाओ, चाहे कितना भी धन कमा लो आप संतुष्ट नहीं हो सकते।इस संसार में ए सत्य है कि स्वयं इंसान स्वयं से संतुष्ट नही है।जो उसके तनाव , पीड़ा का मुख्य कारण है।आज हम सभी इंसान इस अनमोल पावन शरीर को पाकर भी हम संसार रूपी नाली से सिक्के ही ढूढ़ते रहते हैं।दोस्तों भगवान के दिए इस शरीर रूपी धन का इस्तेमाल दूसरों की मदद के लिए करें और संतुष्टि को तलाशे तो निश्चित आनंद रूप में संतुष्टि मन के अंदर दृष्टिगोचर होगी।संतुष्टि स्थायी नहीं होती यह अस्थायी व समयानुसार इंसान के जीवन सफ़र में सुख-दुःख, हर्ष आते जाते रहता है।इंसान हर पल को अपने सोच को संतुष्टि के रूप में ढाल ले तो पीड़ा की अनुभूति नही होगी।इंसान तुमको इस दुनिया में अगर सब कुछ मिल जाएगा ज़िंदगी मे तो तमन्ना किसकी करोगे। जीवन में कुछ अधूरी ख्वाइशें तो ज़िन्दगी जीने का मज़ा देती है।आज कोरोना महामारी के कारण विश्व, राष्ट्र, समाज में आर्थिक मंदी उत्पन हो जाने से भुखमरी एवं भीखक्षाटण के राह पर समाज के ग़रीब , मज़दूर चल पड़े है।यदि समाज के सक्षम इंसान सहयोग ,सहायता के लिए आगे बढ़े तो स्वयं के संतुष्टि , आनंद की अनुभूति होगी।आज के वक्त में भूखा सो रहा है अपने घर में । भूख क्या होती है उनसे बेहतर कौन जान सकता है। हम सभी से निवेदन करता हु कि गरीबो का दर्द समझिए और निःस्वार्थ सेवा कीजिए ताकी जीवन में आपको संतुष्टि मिले। सेवा करने से कोई छोटा नहीं होता।अतीत के पन्ने पलटेंगे तो देखेंगे कि अपना समाज यही सिखलाया गया है।सेवा करो फल भगवन देगा । इंसान हम तुम दरिया हैं, अपना हुनर मालूम है।संतुष्टि के साथ जिस तरफ भी चल पड़ेंगे, रास्ता हो जाएगा जो सुखी जीवन के मंज़िल पर पहुँचाएगा।जीवन यात्रा में खुद से प्यार करना संतुष्टि, खुशी का पहला रहस्य है।इस रहस्य को हमेशा अपने अंदर जीवंत रखना है।हर इंसान अपने जीवन को एक मास्टरपीस बनाए।अपने अंदर विश्वास पैदा करे कि मैं इस ग्रह पर अब तक का सबसे बड़ा व्यक्ति हूँ।अंत में कहूँगा :- चमक सूरज की नहीं इस दुनिया में हर इंसान किरदार की है, खबर ये आसमाँ के अखबार की है,तू चले तो तेरे संग कारवाँ चले, बात गुरूर की नहीं, तेरे अंदर संतुष्टि रूपी मौजूद ऐतबार की है.

POLITICS

Meditation

  • ईद : खुशियों का त्यौहार

    ईद : खुशियों का त्यौहार

    Kumar Mukesh 2020-05-24 19:58:31

    ईद का दिन सुहाना होता है जैसे खुशियों से भरा खजाना होता है। भूलकर भी गिले-शिकवे दुश्मनों को भी गले लगाना होता है।

EDITORS PICK

  • हिंदी पत्रकारिता दिवस पर विशेष

    हिंदी पत्रकारिता दिवस पर विशेष

    Kumar Mukesh 2020-05-29 20:46:05

    हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर मैं सभी पत्रकार सहयोगियो को हार्दिक बधाई देता हूॅ। वास्तव में हिन्दी पत्रकारिता दिवस अपने देश में पत्रकारिता/प्रेस दिवस, भारतीय प्रेस परिषद दिवस आदि अनेक दिवस है तथा मनाये जाते है। केन्द्रीय एवं राज्य सरकार की लगभग 31 साल की सेवाओ मे मैं अनुभव किया कि पत्रकार के रूप में प्रिन्ट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया आदि के पत्रकार भारतीय संविधान में प्रदत्त अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता (अनुक्षेद-19) के तहत पत्रकारिता कर रहे है भारत में पत्रकारिता के स्थापना का श्रेय देवश्री नारद ऋषि को जाता है तथा सप्त ऋषि के अलावा अन्य महर्षिगण भी पत्रकार एवं लेखक के रूप में याद किये जाते है जिसमें महर्षि बाल्मीकि, वेदव्यास आदि के अलावा इलेक्ट्रानिक चैनल के रूप में प्रदर्षित करने वाले महाराज धृतराष्ट्र के सचिव श्री संजय का नाम लिया जाता है। आप सभी पत्रकार साथी हमारे विद्धान है इसको अन्यथा न ले आप सभी लोग विद्धान है इसलिए इस पर ज्यादा प्रकाश न डालते हुए आधुनिक पत्रकारिता के रूप में पंडित जुगल किशोर शुकुल जी को याद करता हूॅ एवं नमन करता हूॅ। ग्रेट व्रीटेन में पत्रकारिता की शुरूवात 1686 ई0वी0 में शुरू हो गई थी और उन्ही प्रक्रियाओ को अपनाते हुए भारत में पत्रकारिता का स्वरूप विकसित हुआ जिसमें आज प्रेस और पुस्तक रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1867, समाचार-पत्र पंजीयन (केन्द्रीय) नियमावली 1956, वर्किंग जर्नलिस्ट एवं न्यूज पेपर कर्मचारी विविध अधिनियम 1955, केवल टेलीविजन नेटवर्क एक्ट 1995, सूचना प्रद्योगिकी अधिनियम 2000, अधिवक्ता अधिनियम 1961, आदि के तहत पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रियता है परन्तु सभी का मूल आधार हमारा भारतीय संविधान है (1950) है जिसके तहत हम अपनी मान सम्मान बढ़ाते है तथा दूसरे को भी सम्मानित करते है।

Helth

Home | Privacy Policy | Terms & Condition | Why RNI?
Positive SSL